Computer क्या है और क्यों बनाया गया सबकुछ बताएंगे तो कंप्यूटर के बारे में सबकुछ जानने के लिए हमारे इस आर्टिकल को पूरा पढ़िए हम आपको छोटी से छोटी बात बताएंगे कंप्यूटर से जुड़ी हुई आखिर आप सभी लोग सोच रहे होंगे की आखिर इसके पीछे किसका हाथ है कैसे इसकी शुरुआत हुई थी।


कंप्यूटर बनाने के पीछे 'Abacus' के पिता का हाथ था जो एक China के Post office में काम करते थे वह ऑफिस के साथ साथ घर पर भी बहुत काम करते थे जो Abacus को देखा नही गया और अपने पिता का काम आसान बनाने के लिए उसने एक Machine बनाई जिसका नाम Abacus रखा गया उस मशीन में आप ( +,- ) कर सकते है।

History of Computer in Hindi
History of Computer


वैसे वो मशीन आज भी इस्तेमाल की जाती है अपने अभी भी छोटे बच्चो के हाथ में स्लेट देखा होगा जिसमे Goliyo को ek तार में डाल दिया जाता है जिससे बच्चे जोड़ या घटाना आसानी से करते है तो आप सोच सकते है जो आज पॉपुलर है वह जब बना होगा तब कितना पॉपुलर रहा होगा।

इस मशीन में केवल एक समस्या थी वो ये थी कि आप केवल ( +,- ) ही कर सकते थे जबकि गणित में +,- के साथ साथ गुणा और भाग की भी जरूरत होती है।

Next envenstion in 1642


बहुत समय के बाद फिर से France के मशहूर महान Scientist 'Blaise Pascal' ने 'Pascaline ' मशीन बनाई जिसमे आप जोड़ घटाना और गुणा भी कर सकते थे लेकिन इसमें केवल एक समस्या थी वो थी की इसपर चढ़ के सवाल दिया जाता था यानी यदि आपको कोई गुणा या जोड़ घटाना करना था तब इसके उपर चढ़ना होता था जिसमे लोगो को काफी तकलीफों का सामना करना पड़ता था लेकिन यदि यह मशीन किसी कारण खराब हो जाती थी तब इसे दुबारा से Repair किया जा सकता था इसीलिए इसके लोग Machanical Calculator नाम दे दिया अब लोगो को एक और समस्या आने लगी की वह जोड़ घटाना और गुणा तो कर ले रहे है किंतु उन्हें Store नही यानी Save नही कर पाते थे ।

कंप्यूटर का सुनहरा युग चल रहा था जब Charles Babbage ने Memory Concept को लाया गया North U.S.A  के Charles Babbage ने मेमोरी बनाया जिसमे हम सबकुछ करने के बाद उसे Store भी यानी Save करके रख भी सकते थे इन्होंने मेमोरी बनाया इसीलिए इनको Father of computer का दर्जा दे दिया गया ।


Read more....

अगली खोज 1872 में 


Scottland के महान वैज्ञानिक Dr. Herman Hollerith ने Division concept को बनाया इसका यह फायदा था की जिन लोगो को भाग करने की समस्या आ रही थी वह दूर हो गई यानी इस Device में जोड़, घटाना, गुणा और भाग सबकुछ कुछ हो जाता था और साथ ही save भी किया जा सकता था लेकिन जो समस्या थी वो थी की लोग इसपर चढ़ कर ही कार्य करते थे जिसमे काफी परेशानी का सामना करना पड़ता था, कोई दूसरा उपाय भी नही था device को Instructions देने का तो Dr. Herman Hollerith ने फिर से Input और Output Device बनाई 1892 में जो User se Instructions लेता था और यानी Input लेता था फिर Process करता था फिर Result दिखाता था ।

इस Device का नाम Punch card रखा गया अब यही पूर्ण Setup के साथ तैयार हो गया किंतु यह पॉपुलर नही हो सका क्योंकि यही Dr. Herman Hollerith की खुद की Personal Property थी यानी इसे केवल Herman Hollerith ही चला चला सकते और उनकी खुद की प्रॉपर्टी थी इसीलिए यह पॉपुलर नही हो सका.

इसको पॉपुलर बनाने के लिए सभी लोगो ने मिलकर 1945 में पहली बार मार्केट में लाया गया और बेचा गया North U.S.A जो कंप्यूटर पहली बार बेचा गया था उसका नाम ENIAC ( Electrical Numerical Integrated and Calculator ) और इसका आकार 20/10 Feet था जो काफी ज्यादा था और यह पहला Comercial arithmetic base कंप्यूटर बना।

Computer Introduction ( कंप्यूटर का परिचय )

कंप्यूटर एक बिजली से चलने वाला एक उपकरण है जिसे किसी भी तरह के कठिन यानी जटिल से जटिल प्रश्न को कम समय में हल करने के लिए किया जाता है।
यह मनुष्य द्वारा Input लेता है और फिर Process करने के बाद Monitor पर प्रदर्शित करता है यह मानव जीवन में काफी भूमिका निभाने का काम किया है.

Characteristick of Computer ( कंप्यूटर के गुण )

जैसा कि हम जानते है कंप्यूटर कितना पॉपुलर है और पॉपुलर होने के पीछे इसके काम करने की तकनीक का हाथ है कंप्यूटर की बहुत सी खुबिया है कुछ अच्छी और कुछ बुरी लेकिन हम अच्छी खुबिया की बात करेंगे जो कुछ इस प्रकार है ......

1. Speed : Computer के पास इतनी तेज गति से काम करने की सकती है की जहा  मनुष्य को किसी भी प्रश्न को Solve ( हल ) करने में 5से10 मिनट लगेंगे वही कंप्यूटर के 1 Micro second में उसी प्रश्न को सॉल्व कर सकता है.

2. Accuracy : यदि हम सवाल देने में कोई गलती न करे तो कंप्यूटर कभी भी गलत जवाब नही देगा यदि हमारे द्वारा गलत निर्देश दिए जायेंगे तो जाहिर सी बात है कंप्यूटर गलत ही उत्तर देगा जैसा की हम जानते है कंप्यूटर कितना Accurate Answer हमे देता है.

3.Delligence : एक रिसर्च में यह पता चला है की कंप्यूटर बिना रुके 25 दिन से ज्यादा लगातार काम कर सकता है जो एक आप आदमी से कई गुना ज्यादा काम है आप अंदाजा लगा सकते है मनुष्य एक दिन में 18 घंटे से ज्यादा काम नहीं कर सकता किंतु एक कंप्यूटर 25 दिन लगातार काम कर सकता है बस उसको उसके हिसाब से Temprature की अवस्यकता की जरूरत होगी.

हम आसा लेकर आपसे उम्मीद करते है की आपको यह आर्टिकल जरूर समझ में आई होगी फिर भी यदि आपको कोई समस्या है या आपका कोई सुझाव है तो आप हमे हमारे इस आर्टिकल के COMMENT Box मे बता सकते है हम आपके स्वालो को सुनने के लिए हमेशा तैयार है ।
धन्यवादी !

2 Comments

Post a Comment

Previous Post Next Post